गुजरात का विकास मॉडल एक भ्रम था, नरेन्द्र मोदी और अमित शाह सत्ता में इस तरह आगे आये

गुजरात का विकास मॉडल एक भ्रम था, नरेन्द्र मोदी और अमित शाह सत्ता में इस तरह आगे आये

1980 में गुजरात में खाम (KHAM) क्षत्रिय, हरिजन (दलित), आदिवासी और मुस्लिम को साथ लाकर, इन 56% मतदाताओं के दम पर कांग्रेस ने लंबे समय तक संघ और भाजपा को सत्ता से दूर रखा. लेकिन आख़िरकार शुरुआत के तीन वर्गो को मुस्लिमों के खिलाफ खड़ाकर मोदी-शाह ने 2002 में इस तनाव को चरम पर पहुंचा दिया, जिसके बाद से वे वहां सत्ता में है. अब यह अब साफ हो गया है कि गुजरात का विकास…

Read More

पटना के ड्रेनेज सिस्‍टम पर कितना ध्‍यान दिया गया? इतनी बर्बादी में भी क्या सो रही है सरकार?

पटना के ड्रेनेज सिस्‍टम पर कितना ध्‍यान दिया गया? इतनी बर्बादी में भी क्या सो रही है सरकार?

आप चैनलों पर बाढ़ का कवरेज देख रहे होंगे. लेकिन थोड़ा ध्यान से देखिए. आप देख रहे होंगे कि नाव पर रिपोर्टर है जो पानी दिखा रहा है. परेशान लोग चीख रहे हैं और सरकार को कोस रहे हैं. मंत्री बादलों को कोस रहे हैं और आश्वासन दे रहे हैं. स्क्रीन पर सरकार को कोसने वाले नारे लिखे गए हैं. कहां हैं सरकार से लेकर शर्म करो नीतीश कुमार तक. यहां तक बिल्कुल ठीक है…

Read More

मामूली सा पत्थर समझकर मछुआरा ले आया था घर ये पत्थर.. बेचा तो उड़ गए होश

मामूली सा पत्थर समझकर मछुआरा ले आया था घर ये पत्थर.. बेचा तो उड़ गए होश

जिंदगी बेहद ही अजीब हैं कोई इंसान जिंदगीभर काम करता रह जाता हैं और उसे कुछ नहीं मिलता, वहीँ कुछ लोग ऐसा काम कर जाते हैं जो उनकी ज़िन्दगी हमेशा के लिए ही बदलकर रख देता हैं. आज हम आपको ऐसी ही खबर बताने जा रहें हैं. जिसको जानने के बात हैरान हो जायेंगे कि जिस पत्थर को एक मछुआरा अपना लकी चार्म समझकर जीवनभर संभल के रख रहा हैं वह उसकी ज़िन्दगी हमेशा के…

Read More

इस विडियो को देखकर आपके रोंगटे न खड़े हो जाए तो कहना

इस विडियो को देखकर आपके रोंगटे न  खड़े हो जाए तो कहना

ये कहानी है उस लड़की कि जो अपने पैर गवा देने के बाद भी,दुनिया के सबसे ऊँचे पहाड़ एवरेस्ट पर चढ़ कर आई और अपने देश का नाम रोशन किया. ये विडियो उन लोगो के लिए जवाब है जो ,अपनी जिंदगी में हार जाते है. असल में कोई व्यक्ति तब तक नहीं हारता जब तक वो खुद को हारा हुआ ना समझे. अगर आप किसी लक्ष्य को पाना चाहते है और आपकी अंतर आत्मा से…

Read More

जानिए बचपन में खायी जाने वाली कसमों के हमारी जिन्दगी में क्या मायने है

जानिए बचपन में खायी जाने वाली कसमों के हमारी जिन्दगी में क्या मायने है

जिंदगी में आपके साथ या कुछ बुरा होता है या कुछ अच्छा होता है ,ये सबकुछ भगवान की इच्छा से ही होता है. हाँ हम ऐसा कह सकते है की जो होता है वो भगवान की इच्छा से होता है पर ये कहना भी गलत नहीं होगा की अक्सर हमारे साथ वही होता है जिस पर हम विश्वास करते है. इसे भी पढ़े :ये है वो दस वाहियात शब्द , जो दिल्ली के लोग बोलते…

Read More

इस शॉर्ट फिल्म को देखकर बताएं, क्या वाकई सब ठीक है..?

इस शॉर्ट फिल्म को देखकर बताएं, क्या वाकई सब ठीक है..?

हमारे देश में जहाँ एक जगह देविओं को पूजा जाता हैं वहीँ दूसरी ओर माता के तौर पर या फिर एक पत्नी के तौर पर उनका शौषण किया जाता हैं. यह एक ऐसी सच्चाई है जिससे आज तक कोई भी नहीं बच पाया हैं. आपने भी यह समस्या कई बार होते हुए देखी होंगी. यह मानव समाज का एक ऐसा अंग बन गयी हैं जहाँ स्त्रियों को पुरषों की तुलना में बहुत कम आँका जाता…

Read More